Chandigarh Kare Aashiqui Trailer Review In Hindi


Chandigarh Kare Aashiqui Trailer Review In Hindi

बॉलीवुड famous है लव स्टोरीज के लिए एक लव स्टोरी बनाने के लिए तो सबसे जरूरी चीजें कौन सी हैं। एक लड़का और दूसरी लड़की  फिरसे एक लव स्टोरी फिल्म आने वाला है जिनका नाम है Chandigarh Kare Aashiqui नाम सुना तो होगा एक खतरनाक लव स्टोरी मार्केट में आयेगी जो आखों में एकदम आग लगा देगी आशिक बनाया आपने टाइप के गानों की यादें ताजा हो गई थी जिसे देखकर हम घरवालों के सामने मुंह छुपाने का नाटक करते हैं। बस वही वाला बड़ा ट्रेलर आया तो सच में होश उड़ गया। बहुत सी लव स्टोरी का बेसिक फंडा ही चेंज हो गया है लड़का लड़की से नहीं बल्कि धोखे से प्यार कर बैठा है। नहीं समझे रुको बताती हूं फ्रॉम सेक्शुअल डिक्शनरी में बड़ा कमाल के शब्द वो लोग जो पैदा हुए हैं। लड़का या लड़की लेकिन एक्चुअली फीगर है उसका अपोजिट एंड फाइनली मैडिकल ऑपरेशन की हेल्प से जेंडर चेंज हो जाता है अपना हीरो भी आ चंडीगढ में हीरोइन को दिल दे बैठा है। उनका हाल भी कुछ ऐसा ही है जो बाहर निकलता है तो पैरों के नीचे से जमीन टाटा बाय बाय हो जाती है कन्फ्यूजन में ट्रेलर एक जरूरी सवाल पीछे छोड़ गया है। हीरो के लिए भी और हमारे लिए भी सच्चा प्यार है क्या शरीर बॉडी फिट तो दिमाग वाला कनेक्शन दो इंसानों की फीलिंग्स एक दूसरे के लिए मेंटल या फिजिकल आप क्या चुनेंगे। देखो का कॉन्सेप्ट जबरदस्त है वो भी इंडियन सिनेमा में लव स्टोरी के साथ इतना बड़ा रिस्क लेने के लिए हिम्मत चाहिए बॉस अब लोग इसको सपोर्ट करेंगे कि नहीं वो देखने लायक बात होगी। शर्म के पीछे सोसाइटी का बहाना मारते या फिर एजुकेशन की तरफ खुद को अपनी फैमिली को ले जाऊंगी। फैसला तुम्हारा है।


अच्छी बात ये है तक घिसी पिटी लवस्टोरी को पीछे छोड़कर बॉलीवुड कुछ यूनीक बनाने की कोशिश कर रहा है। पिंक फ्रेश और ये किसी साज़ या फिर हॉलिवुड की रीमेक भी नहीं है। डियर इशूज को बड़े स्क्रीन पर चलाना मतलब कॉन्ट्रोवर्सी इसको घर पर मेहमान बनाके बुलाना आयुष्मान खुराना तो वैसे भी जाने जाते हैं। डिफरेंट टाइप के बनाने के लिए सोशल इश्यूज को हाइलाइट करना इस बंदे की फिल्मों का साबित होता है। हर बार ट्रेलर में सबसे कमाल की चीज ये है। बस जब तक हमें क्लियर भी बताया नहीं गया बट स्टोरी में कुछ तो गड़बड़ हो गया। उससे पहले हम कुछ समझ ही नहीं पाए। किसी भी नॉर्मल कहानी की तरह हीरो मिले फिर प्यार हो गया रोमैंस हो या फिर आप वाली कैमिस्ट्री। आयुष्मान इन दोनों की पेयरिंग कमाल थी जिसकी वजह से ऑडियंस को भी शक नहीं हुआ। बाकी को साइड कर दूं तो म्यूजिक कमाल है। मैं चंडीगढ़ वाला फ्लेवर डाला गया है। बदतमीज इस काम को घर बैठे बैठे आपको पंजाब की गलियों में ले जाएगा। आयुष्मान को भी पंजाबी हैं तो फिल्म कैरेक्टर एकदम नैचुरल रोज देखने को मिलेगा वरना तुम जानते हो मुम्बई से आकर जबरदस्ती उनके मुंह में पंजाबी घुसाने की कोशिश को भी मजाक बना देती है। ट्रांसफॉर्मेशन भी बंदे का दम कमाल लगता है। इनका एक लुक ही काफी है। कैरेक्टर का पब्लिक से इंट्रो कराने के लिए जिम वाले मुश्ताक ने दिमाग से गरम से ठंडे फ्रेम वाला टू चंडीगढ़ का साइन आयुष्मान फायर गिरगिट की तरह रंग बदल सकता है आदमी हंड्रेड परसेंट नैचुरल टैलेंट तारीफ। बोनी कपूर की भी होनी चाहिए। बकौल बॉलीवुड इंडस्ट्री जहां ऐक्टर्स को एक डीवा प्रजेंट किया जाता है वहां इतना चैलेंजिंग


कैरेक्टर प्ले करना जो लड़का लड़की की डेफिनेशन बदल दे शक्ल वाले बड़े नामों वाले इस रोल से ऐसे दूर भागने से भूत देख लिया हो। अब बारी तुम लोगों की यह बताना कि लव स्टोरी में कुछ अलग ट्विस्ट कैसा लगा। मतलब जो सोचा था वो हुआ तो नहीं।

Previous Post Next Post